हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप बी (Hib)

हेमोफिलस इन्फ्लुएंजाप्रकार b, जिसे आमतौर पर Hib के नाम से जाना जाता है, एक बैक्टीरियम है जिसके कारण गंभीर संक्रमण होता है, खासकर छोटे बच्चों में। इसके नाम के विपरीत, इसका इन्फ्लुएंजा वायरस से कोई संबंध नहीं है: इससे पहले कि वैज्ञानिक इस बात का पता लगाते कि बुखार का कारण एक वायरस था, वर्ष 1892 में इन्फ्लुएंजा के प्रकोप के दौरान रोगियों के एक समूह में Hib पाया गया। इस प्रकार Hib को इन्फ्लुएंजा का कारण माना गया। इसका भ्रामक नाम बुखार से संबंधित इसके प्रथमाक्षर, हालांकि यह गलत था, के विपरीत रखा गया था।

वार्षिक रूप से, Hib मुख्य रूप से न्युमोनिया और मेनिंजाइटिस के कारण होने वाली लगभग 8 मिलियन गंभीर रोगों और लगभग 371,000 मौतों के जिम्मेदार है। रोगों के गंभीर परिणामस्वरूप ज्यादातर 4 और 18 महीने की आयु के बच्चों में उत्पन्न होते हैं।

लक्षण

Hib जीवाणु के कारण अनेक प्रकार ए तेजी से फैलने वाली बीमारियां हो सकती हैं जैसे मेनिंजाइटिस, न्युमोनिया, सेल्युलाइटिस (त्वचा का संक्रमण), सेप्टिक अर्थराइटिस (जोड़ों का संक्रमण) और एपोग्लोटाइटिस (एपोग्लोटाइटिस का संक्रमण, जिसके कारण श्वास नाल में अवरुद्ध होता है या बंद हो जाता है)। कुल मिलाकर, ये Hib-जनित संक्रमणों को आमतौर पर “Hib रोग” कहा जाता है।

Hib का टीका आने से पहले, मेनिंजाइटिस - मस्तिष्क को ढकने वाले मेम्ब्रेन (झिल्ली) का संक्रमण, सबसे सामान्य Hib-प्रेरित तेजी से फैलने वाली बीमारी थी। इसके लक्षणों में शामिल हैं बुखार, गरदन की अकड़न, और खराब मानसिक अवस्था। मेनिंजाइटिस के कारण इससे गुजरने वाले 15-30% रोगियों की श्रवण क्षमता स्थायी रूप से खराब हो जाती है या तंत्रिका संबंधी दूसरी समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं।

प्रसार

हेमोफिलस इन्फ्लुएंजा  प्रकार b जीवाणु सतहों पर या पर्यावरण में जीवित नहीं रह सकता। बैक्टीरियम का एकमात्र स्थान है मनुष्य, जिसमें यह मनुष्य के बीमार हुए बिना भी रह सकता है।

हालांकि यह बीमार व्यक्तियों से निकलने वाली श्वसन की छोटी-छोटी बूंदों द्वारा हवा के जरिए फैलता है। अच्छी बात यह है कि, अधिकांश मामलों में इसके फैलने की क्षमता सीमित होती है, यद्यपि, संक्रमित व्यक्ति के साथ संपर्क में आने पर इसका प्रकोप हो सकता है।

उपचार और देखभाल

Hib के उपचार के लिए एंटिबायोटिक्स का प्रयोग किया जा सकता है, लेकिन कुछ एंटिबायोटिक्स के प्रति जीवाणु की प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो गई है। इसके अलावा, विकासशील देशों में एंटिबायोटिक्स का इस्तेमाल सीमिय किया गया है।

गंभीर Hib संक्रमणों के लिए, जहां संभव होता है प्राय: अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत होती है।

जटिलताएं

मेनिंजाइटिस से लेकर न्युमोनिया तक के कई सारे Hib बीमारियों के कारण, जटिलताओं का प्रकार Hib संक्रमण के प्रकार पर निर्भर करता है। इनमें से कई तंत्रिका संबंधी क्षति के रूप में होते हैं जिसमें अंधापन, बहरापन, और मानसिक मंदता शामिल हैं।

Hib बीमारियों के विभिन्न स्वरूपों से जुड़ी जटिलताओं के कारण विभिन्न प्रकारों से होने वाली मृत्यु का जोखिम अलग-अलग होता है। Hib मेनिंजाइटिस (तेजी से फैलने वाले Hib बीमारियों का सबसे सामान्य रूप) के लिए, मामले की मृत्यु दर 2-5% होती है।

Hib बीमारियों से होने वाली अधिकांश मौतों के मामले उन विकासशील देशों में देखने को मिले हैं जहां Hib टीका का व्यापक रूप से प्रयोग नहीं किया जाता है। विकसित देशों में अभी भी मौतें होती हैं, विशेषकर तब जब टीका की दरें कम होती हैं।

उपलब्ध टीके

Hib बीमारियों से प्रतिरक्षा के लिए पहले टीके की शुरुआत वर्ष 1985 में संयुक्त राज्य में हुई थी; एक उन्नत संयुग्मन टीका जिसे दो वर्ष बाद लाइसेंस प्रदान किया गया। Hib टीक के अनेक मिश्रण, Hib के लिए एकल टीकाकरण और संयुक्त सूई (उदाहरण के लिए हेपाटाइटिस B और Hib टीका कम्बाइंड शॉट में उपलब्ध हैं) दोनों अभी उपलब्ध हैं। Hib बीमारी के सभी टीके असक्रिय टीके हैं और इनमें Hib बैक्ट्रीरियम का केवल एक भाग निहित होता है।

टीकाकरण की अनुशंसाएं

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी नवजात शिशुओं को Hib बीमारी से प्रतिरक्षण प्रदान की जाने की अनुशंसा के है। टीके की तीन या चार खुराक की सलाह दी गई है, जो इस्तेमाल किए जाने रहे Hib टीके पर निर्भर है। सभी Hib टीकों के लिए, हालांकि, शुरुआती शैशवता में पहली खुराक की सलाह दी जाती है।

वर्ष 2013 को, WHO के 98% सदस्यों ने अपने प्रतिरक्षण कार्यक्रमों में Hib टीका को अपनाया। वर्ष 2013 में दुनिया भर में लगभग 52% नवजात शिशुओं के शामिल होने का अनुमान है।

 


स्रोत

सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन । Haemophilus Influenzae type b. In Epidemiology and Prevention of Vaccine-Preventable Diseases.  Atkinson W, Wolfe S, Hamborsky J, McIntyre L, eds. 13th ed. Washington DC: Public Health Foundation, 2015. (524 KB). 28/3/2017 को प्रयुक्त।

सेंटर्स फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन । Hib (Haemophilus influenzae type b) vaccination. 28/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन। Estimates of disease burden and cost-effectiveness. December 2015. 28/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन। Global immunization data. July 2014. 28/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन। Haemophilus influenza type b (Hib). 28/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन।  Haemophilus influenzae type b (Hib) vaccination position paper. September 2013. (225 KB). 28/3/2017 को प्रयुक्त।

 

PDFs पढ़ने के लिए, Adobe Reader डाउनलोड करें और इंस्टॉल करें।

अंतिम अपडेट 28 मार्च 2017