रोटावायरस

दुनिया भर के बच्चों और नवजातों में गंभीर दस्त होने का सबसे सामान्य कारण है रोटावायरस। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आकलनों के मुताबिक वर्ष 2013 में रोटावायरस बीमारी के कारण लगभग 215,000 मौंतें हुई थी (आखिरी वर्ष जिसके लिए डेटा उपलब्ध है)। सबसे अधिक मौंतें विकासशील देशों में होती हैं।

लक्षण और प्रेरक कारक

रोटावायरस एक दोहरे-स्ट्रैंड वाला RNA वायरस है जो रियोवायरस परिवार का है। इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखे जाने पर, वायरस की आकृति एक पहिए की तरह दिखाई देती है, इसलिए इसका नाम (रोटा  रखा गया जो “पहिया” के लिए लैटिन शब्द है)। रोटावायरस की अनेक किस्मों और उप-किस्मों के कारण मनुष्यों में रोग उत्पन्न होता है।

रोटावायरस संक्रमण का सबसे सामान्य लक्षण है पतला दस्त। इसके कारण बुखार, पेट का दर्द और उल्टी भी हो सकती है। नीचे रोटावायरस संक्रमण की जटिलताओं का वर्णन किया गया है।

प्रसार

रोटावायरस विष्टा-मौखिक मार्ग, आर्थात किसी संक्रमित व्यक्ति के अपशिष्ट से दूसरे व्यक्ति के मुंह में फैलता है। यह हाथों और खिलौनों जैसी वस्तुओं पर मौजूद संदूषण के जरिए हो सकता है। वायरस बच्चों में आसानी से फैल सकता है और बच्चों से उन लोगों में पहुंच सकता है जो उन बच्चों के सबसे निकट होते हैं।

रोटावायरस के साथ किसी व्यक्ति के पहले संक्रमण से तीव्र रुग्णता होती है, लेकिन बाद के संक्रमण के हल्के लक्षण प्रकट होते हैं और ये प्राय: गैर-लक्षणात्मक (अर्थात नहीं दिखाई देने वाले लक्षण) होते हैं। हालांकि वयस्कों में होने वाले गैर-लक्षणात्मक संक्रमण से निकट के संपर्क में रहने वाले व्यक्ति तक वायरस का प्रसार हो सकता है।

उपचार और देखभाल

रोटावायरस संक्रमण के लिए कोई विशेष इलाज मौजूद नहीं है। बल्कि, इनका इलाज सहयोगी देखभाल जैसे मुंह के जरिए द्रव की आपूर्ति, आराम, और बुखार में आराम द्वारा की जाती है।

जटिलताएं

रोटावायरस अस्वस्थता की कुछ स्थितियों में, दस्त और उल्टी के कारण बच्चों के शरीर में पानी की भारी कमी हो जाती है। इन स्थितियों में अस्पताल में भर्ती करने की नौबत आ जाती है, और बच्चों के शरीर में पानी की दुबारा आपूर्ति करने के लिए नैसोगैस्ट्रिक ट्यूब या नसों के जरिए द्रव पहुंचाई जाती है। तात्कालिक रीहाइड्रेशन उपचार से प्राय: सकारात्मक परिणाम मिलता है, लेकिन यदि उपचार उपलब्ध नहीं हुआ या देर से हुआ तो रोगी की मृत्यु हो सकती है।

उपलब्ध टीके

दुनिया भर में रोटावायरस के कारण लगातार मौंतें हो रही हैं। उन सभी विकासशील देशों में रोटावायरस का टीका उपलब्ध कराने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, जहां रोटावायरस से मृत्यु होना आम है। मैक्सिको ऐसा पहला देश था जो वर्ष 2006 में रोटावायरस टीका प्राप्त किया; 2009 रोटावायरस सीजन तक, टीकाकरण के लिए लक्षित आबादी (11 महीने से कम आयु के बच्चे, जहां मृत्यु दर में 40% की कमी हुई) और एक और दो वर्ष की आयु के बच्चों के बीच अतिसार/दस्त (डायरिया) संबंधित रोग से होने वाली मृत्यु में कमी आई (रोटावायरस की मौंतों में लगभग 30% की कमी आई)। टीका द्वारा लक्षित नहीं की गई आबादी के एक भाग में भी मृत्यु दर में कमी होना यह दर्शाता है कि सामूहिक प्रतिरक्षण से टीकायुक्त व्यक्तियों को लाभ प्राप्त हुआ : कुछ संक्रमणों का प्रसार हुआ, रोग का प्रसार कम आबादी में हुआ, जिससे इसके संपर्क में आने का अवसर कम हुआ।

टीकाकरण की अनुशंसाएं

विश्व स्वास्थ्य संगठन रोटावायरस को सभी राष्ट्रीय प्रतिक्षण कार्यक्रमों में शामिल करने और पहली खुराक 6-12 सप्ताह की आयु में दिए जाने की अनुशंसा करता है। रोटावायरस टीका की अंतिम खुराक देने के लिए अधिकतम आयु है 32 सप्ताह।


स्रोत

सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन। Rotavirus. In Epidemiology and Prevention of Vaccine-Preventable Diseases. Atkinson W, Wolfe S, Hamborsky J, eds. 13th ed. Washington DC: Public Health Foundation, 2015.  (562 KB). 31/3/2017 को प्रयुक्त।

Feigin RD, Cherry JD, Demmler GJ, Kaplan SL. Rotavirus. In Texbook of Pediatric Infectious Diseases, 5th ed., vol 2. Philadelphia: Saunders, 2004.

Plotkin SA, Orenstein WA, Offit PA. Pertussis. In Vaccines, 5th ed. Philadelphia: Saunders, 2008.

Richardson V, Hernandez-Pichardo J, Quintanar-Solares M, Esparza-Aguilar M, Johnson B, Gomez-Altamirano CM, Parashar U, Patel M. Effect of rotavirus vaccination on death from childhood diarrhea in MexicoN Engl J Med 2010; 362:299-305.  31/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन । Estimates of rotavirus deaths for children under 5 years of age. 31/3/2017 को प्रयुक्त।

विश्व स्वास्थ्य संगठन Rotavirus vaccines: WHO position paper, January 2013. 31/3/2017 को प्रयुक्त।

 

PDFs पढ़ने के लिए, Adobe Reader डाउनलोड करें और इंस्टॉल करें।

अंतिम अपडेट 31 मार्च 2017